Browsing: रासदानजी झिबा सरदारपूरा

देय आशीष देवियाँ, सब ही मिटे संताप। नेहचो रहे साल नये, उन्नती करजो आप।।(1) शुख सम्पती रहे ज सदा दालद्र…

दोहा- कित बीकानों आगरो, कित चिडीयालो देश। पीथळ हंदो साद सुने, आई पधारो एथ।।(1) करनल बाई वन्दन करे, नमो…

दोहा अविरल वाणी उर वसो, मात चंडी मह्माय। आखां देवल ओपमा, रूप गिरां सुरराय।। सुरराय सदा अध् आवड़ सांप्रत,पाय…

शक्ति नें संवरे सुद्रोजी, जन्म मो घर धार। हडुवे आया माँ हिंग्लाजा, स्वप्न हुओ साकार…।।1।। आंबे आय लियो अवतार, जोमाँ …

चिरजा माँ जोमजी ऱी शक्ति नें संवरे सुद्रोजी ,जन्म मो घर धार। हडुवे आया माँ हिंग्लाजा, स्वप्न हुओ साकार।।1।। आंबे…